Press "Enter" to skip to content

व्लादिमीर पुतिन : नहीं देंगे अल्पसंख्यकों को कोई सुविधा, जिसे शरिया चाहिए वो रूस से बाहर जाये

नहीं देंगे अल्पसंख्यकों को कोई सुविधा : व्लादिमीर पुतिन
नहीं देंगे अल्पसंख्यकों को कोई सुविधा : व्लादिमीर पुतिन

व्लादिमीर पुतिन : कोई भी देश ऐसे ही महान नहीं बनता, उसे चाहिए एक मजबूत नेता, और कोई भी नेता खुद ही मजबूत नहीं हो जाता, मजबूत नेता बनाने के लिए चाहिए मजबूत जनता, जिसके अंदर स्वाभिमान और एकजुटता हो

व्लादिमीर पुतिन : ऐसा ही समाज जिसमे स्वाभिमान और एकजुटता हो, राष्ट्रवाद, राष्ट्रीयता की भावना हो, ऐसा ही समाज एक मजबूत नेता दे सकता है, जो समाज पेट्रोल प्याज पर वोट देता है, जिसमे न एकजुट और न ही राष्ट्रीयता है ऐसे समाज से उम्मीद नहीं की जा सकती

हमारे देश में पिछले कई दिनों से अब कट्टरपंथियों का उन्माद काफी बढ़ गया है, ये लोग शरिया अदालत और अब तो अलग देश की भी मांग शुरू कर चुके है, जैसे जैसे इनकी आबादी बढ़ेगी, वैसे वैसे ये मांग को और तेजी से ये करेंगे

ऐसा नहीं है की कट्टरपंथी सिर्फ भारत के अंदर ही ऐसी मांगे करते है, ये जहाँ पर भी होते है, इसी काम में लगे रहते है, रूस में भी ये इसी काम में लगे है, पर क्या है की रूस में बहुसंख्यक समाज में एकजुटता और राष्ट्रीयता है इसी कारण वहां ये कट्टरपंथी सफल नहीं है

शरिया की मांग रूस में भी की गयी थी, और आज भी होती है, वहां पर भी आतंकी गतिविधियां होती है, पर रूस इन कट्टरपंथियों से जरा सख्ती से निपटता है, जो भारत में नहीं दिखाई देता

Loading...

शरिया की मांग पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 1 ही बार बयान दिया था, और उसके बाद से ही रूस में किसी ने शरिया नहीं माँगा, पुतिन ने कहा था

* जिन अल्पसंख्यकों को शरिया चाहिए, वो रूस से बाहर जाये, यहाँ शरिया नहीं मिलेगा
* हम अल्पसंख्यकों के लिए कोई अलग से विशेष सुविधा नहीं देंगे
* रूस को अल्पसंख्यकों की जरूरत नहीं है, अल्पसंख्यकों को रूस की जरुरत है
* यहाँ कोई शरिया या फिर सुविधा अल्पसंख्यकों को नहीं दी जाएगी, चाहे वो कितना भी चींखें की उनके साथ भेदभाव हो रहा है

Loading...

पुतिन ने साफ़ कर दिया की वो अल्पसंख्यक कल्याण के लिए नहीं बल्कि रूस के कल्याण के लिए काम करेंगे, और पुतिन के सख्त रुख के बाद से रूस में अबतक तो किसी ने शरिया की मांग नहीं ही की है

Mission News Theme by Compete Themes.