Press "Enter" to skip to content

एक सेक्युलर पिता जिसने मिराज को रखा ड्राइवर. फिर अचानक गायब हो गई उसकी बेटी और..

 

तथाकथित राजनेताओं द्वारा दी गई धर्मनिरपेक्षता की परिभाषा को उसने अपनाया तथा इसी का परिचय देते हुए उसने मिराज खान को अपने यहां ड्राइवर रख लिया. फिर एक दिन उसकी नाबालिग बेटी तथा मिराज गायब हो गए. बाद में मिराज तो आ गया लेकिन बेटी का कुछ पता न चला. मामला बिहार के जमुई जिले का है.

खबर के मुताबिक़, बिहार के जमुई में गिद्धौर थाना क्षेत्र के एक गांव से बीते 30 जून को नाबालिग को अगवा किये जाने के मामले का गिद्धौर पुलिस ने उद्भेदन करते हुए अपहृता को बरामद कर लिया है. अपहृता ने पुलिस को दिये बयान में बताया कि अपहरणकर्ता नशीली दवा खिलाकर उसके साथ दुष्कर्म करता था.

पुलिस को अपहृता ने बताया कि खैरा थाना क्षेत्र के फतेहपुर गांव निवासी जाकिर खान के पुत्र मिराज खान रतनपुर निवासी एक व्यक्ति के यहां ड्राइवर के रूप में वाहन चलाने का काम करता था. वहीं से उक्त ड्राइवर ने बहला-फुसला कर उसे अगवा कर लिया. उसने बताया कि उक्त युवक उसे लेकर सीमावर्ती राज्य झारखंड चला गया तथा वहीं लगातार सात दिनों तक जबरन नशीली दवा खिलाकर उसके साथ दुष्कर्म करता रहा.

लड़की के पिता ने 30 जून को ही स्थानीय थाने में आवेदन देकर अपहरण की प्राथमिकी दर्ज करायी थी. इस बाबत आयोजित थानाध्यक्ष ब्रजेश कुमार ने बताया कि 30 जून को खैरा थाना क्षेत्र के फतेहपुर गांव निवासी जाकिर खान का पुत्र मेराज खान पर नाबालिग लड़की के पिता ने अपहरण करने का मामला दर्ज कराया था.

पीड़िता नाबालिग के सकुशल बरामदगी को लेकर गिद्धौर पुलिस द्वारा मामले में चिह्नित जगहों पर टीम गठित कर आरोपित युवक की गिरफ्तारी को लेकर अवर निरीक्षक संजय कुमार के द्वारा लगातार छापेमारी की जा रही थी. उन्होंने बताया कि पुलिस दबिश के कारण आरोपित युवक नाबालिग को देवघर में छोड़कर फरार हो गया. इसके बाद उक्त लड़की अपने घर आयी तथा उसने अपनी आपबीती सुनायी.

इधर, पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर आरोपित युवक को खैरा थाने के फतेहपुर गांव स्थित उसके घर से गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर न्यायिक हिरासत में उसे जेल भेज दिया है. वहीं पीड़िता का मेडिकल करवा 164 के तहत मामले में बयान दर्ज कराने के लिए न्यायालय भेज दिया गया है.

थानाध्यक्ष ने यह भी बताया कि उक्त मामले में आरोपित युवक के खिलाफ स्पीडी ट्रायल के तहत कानूनी कार्रवाई की जायेगी. पुलिस का कहना है की आरोपी के सुसंगत धाराओं में कार्यवाही की जाएगी तथा पीड़िता को न्याय मिलेगा.