Press "Enter" to skip to content

विडियो : मुस्लिम औरतों का बिंदी लगाना और मांग में सिंदूर भरना नहीं है हराम : वासिम रिज़वी

वासिम रिज़वी
वासिम रिज़वी

वासिम रिज़वी : केरल में इस्लैक कट्टरपंथियों ने एक छोटी मुस्लिम बच्ची पर कहर ढाया और उसे मदरसे से बाहर कर दिया गया, ऐसा कट्टरपंथियों ने इसलिए किया क्यूंकि उस बच्ची ने बिंदी लगाई थी

असल में बिंदी उस बच्ची के किसी प्ले में काम करने के कारण लगाई थी पर कट्टरपंथियों का इस्लाम बिंदी से खतरे में आ गया और उन्होंने बच्ची को मदरसे से बाहर कर दिया, इस मामले पर शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वासिम रिज़वी ने कडा बयान दिया है

वासिम रिज़वी ने तो यहाँ तक कह दिया की बिंदी लगाना तो छोडिये, मुस्लिम औरतें अगर मांग में सिंदूर भी भरे तो वो भी हराम नहीं है, बल्कि हराम तो मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाना है, हराम तो गाय काटना है, हराम तो सड़क पर नमाज़ पढना है

 

वासिम रिज़वी ने कट्टरपंथियों की आलोचना की, और बताया की मुस्लिम औरतें तो मांग में सिंदूर भी भर सकती है, बिंदी भी जायज है, कट्टरपंथियों के कारनामे ही हराम है

सड़क पर कब्ज़ा करके ये नमाज़ पढ़ते है, दुसरे धर्म के स्थलों को तोड़कर मस्जिद बनाते है, भारत के खिलाफ जहर उगलते है, कट्टरपंथी ही हराम है

Mission News Theme by Compete Themes.