Press "Enter" to skip to content

रांची के इसाई मिशनरी में पैदा हुए 280 बच्चे गायब, ये लोग डरे हुए नहीं बल्कि भीषण अपराध में लिप्त

इसाई मिशनरी से 280 बच्चे गायब
इसाई मिशनरी से 280 बच्चे गायब

इसाई मिशनरी का कहना है की ये लोग भारत में डरे हुए है, पर वास्तविकता ये है की ये लोग ऐसा इसलिए कह रहे है ताकि इनके अपराधो की कोई जांच न करे, वरना और अच्छे से विक्टिम कार्ड खेलेंगे

इसाई मिशनरी का काला कारनामा सामने लाना बहुत जरुरी है, अधिकतर मीडिया हाउस इनके ही है, न्यूज़ पेपर इनके ही है इसलिए इनके काले कारनामो पर कोई बात करने को भी तैयार नहीं है

झारखण्ड के रांची के सिर्फ 1 इसाई मिशनरी में पैदा हुए 280 बच्चे गायब है, ये एक मिशनरी का हाल है, गरीब गरीब लोगों के बच्चे इनके यहाँ पैदा होते है, और बच्चों को ये गायब कर देते है

बिचारे गरीबों को बता देते है की आपके बच्चे मरे हुए पैदा हुए, या इसके अलावा भी इनके पास और बहुत बातें है कहने को, मीडिया कभी इनके काले कारनामे दिखाती नहीं, और अधिकतर सरकारें इनकी हर बात मानती है, और जिस सरकार में इनके काले कारनामो पर खतरा उत्पन्न होता है तो ये कहना शुरू कर देते है की हम डरे हुए है

 

रांची के मिशनरी “निर्मल ह्रदय”, ये नाम हिन्दू वाला है पर है ये इसाई मिशनरी, यहाँ 470 बच्चे जन्मे थे, रिकॉर्ड जांचा गया तो इस मिशनरी ने सिर्फ 170 का रिकॉर्ड बताया, 280 बच्चे कहाँ गए ये मिशनरी नहीं बता पा रही है

झारखण्ड में ही कुछ ननों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जिसमे से नं कोंडालिसा ने बताया की उसने 1 बच्चे को पिछले दिनों 1 लाख 14 हज़ार रुपए में बेचा है, अब बाकि 280 बच्चों का क्या किया गया होगा, इसे समझना मुश्किल नहीं है

पुलिस अब इस मामले की जांच कर रही है, पर मिशनरियां क्या कर रही है ये दुनिया के सामने है, वैसे अधिकतर मीडिया के लोग इस खबर को दबाने में भी लगे हुए है, और नहीं चाहते की कोई इन ख़बरों को किसी को बताये

ये लोग डरे हुए है ? ये लोग तो भीषण संगठित अपराध में लिप्त है, मानव तस्करी, हथियारों की तस्करी, ड्रग्स की तस्करी, ऐसे काम करने में ये लिप्त है, और इनकी जांच न हो इसलिए ये लोग चिल्लाते है की हम डरे हुए है भारत में

Mission News Theme by Compete Themes.