Press "Enter" to skip to content

असीफा के लिए भूख हड़ताल पर बैठने वाली स्वाति मालीवाल है मंदसौर पर चुप, कहाँ गयी मानवता

स्वाति मालीवाल का दोगलापन
स्वाति मालीवाल का दोगलापन

स्वाति मालीवाल जो की दिल्ली के मालिक अरविन्द केजरीवाल की पुरानी साथी है, और साथ ही साथ दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख भी है, और सुर्ख़ियों में भी रहती है

आपको ध्यान होगा कठुवा मामले के बाद स्वाति मालीवाल दिल्ली में दरिंदो को फांसी की मांग के लिए भूख हड़ताल पर बैठी थी, कई दिनों तक इन्होने असीफा के लिए भूख हड़ताल किया था, इनकी मानवता कठुवा मामले के बाद उफान पर थी

अभी हाल में ही मंदसौर में 7 साल की दिव्या का मोहम्मद इरफ़ान और मोहम्मद आसिफ के द्वारा गैंगरेप किया गया, इस मामले पर स्वाति मालीवाल की मानवता गायब सी हो गयी है, शायद स्वाति मालीवाल भूल गयी है की वो तो महिलाओं और बच्चियों के लिए लड़ने वाली महिला है, पर लोग नहीं भूले और अब इनके दोगलेपन पर सवाल उतने शुरू हो गए है

 


लोगों का सवाल जायज है, स्वाति मालीवाल की मानवता असीफा के लिए तो जागती है पर दिव्या के लिए नहीं, और ये दोगलापन सिर्फ स्वाति मालीवाल का ही नहीं है, ये तो हर सेक्युलर हर वामपंथी का है

इन सभी लोगों की मानवता सिर्फ असिफाओं के लिए ही उफान मारती है, दिव्याओं के लिए नहीं, ये लोग धर्म के आधार पर मानवता दिखाते है, ये लोग घोर कट्टरपंथी है, पर खुद को सेक्युलर और दूसरों को सांप्रदायिक बताते है

और इन लोगों के दोगलेपन पर कोई सवाल उठा दे तो फिर इन लोगों को विक्टिम कार्ड भी बहुत अच्छे से खेलना आता है

More from कडवी बातMore posts in कडवी बात »
More from सेक्युलर नेताMore posts in सेक्युलर नेता »
Mission News Theme by Compete Themes.