Press "Enter" to skip to content

जापानियों से सीखिए : खिलाडियों ने अपना लाकर और फैंस ने स्टेडियम साफ़ किया

जापानियों से सीखिए
जापानियों से सीखिए

रूस में फीफा वर्ल्ड कप 2018 चल रहा है, अब वर्ल्ड कप क्वार्टर फाइनल के स्टेज तक पहुँच गया है, जापान भी क्वार्टर फाइनल में पहुँचने के लिए खेला पर जापान अपना मैच हार गया : जापानियों से सीखिए

जापानियों से सीखिए : हार के बाद जापान के खिलाडियों को स्टेडियम में जो लाकर दिया गया था, उन्होंने उस लाकर को खुद ही साफ़ किया, खिलाडियों ने पहले लाकर को साफ़ किया और उसके बाद बस में बैठकर अपने होटल के लिए निकले

जापानी खिलाडियों ने साफ़ किया अपना लाकर
जापानी खिलाडियों ने साफ़ किया अपना लाकर

जापानी खिलाडियों का मैच देखने के लिए जापान से बहुत से जापानी लोग भी रूस आये थे, वो मैच के दौरान स्टेडियम में बैठे हुए थे, जब मैच ख़त्म हो गया तो कई दर्जन जापानियों ने स्टेडियम से बोतल, बैनर इत्यादि साफ़ किये, पूरा स्टेडियम जापानी लोगों ने ही साफ़ किया

जापानियों ने साफ़ किया स्टेडियम
जापानियों ने साफ़ किया स्टेडियम

जापानियों ने पुरे स्टेडियम को साफ़ किया, और पूरा स्टेडियम साफ़ हो गया तब जापानी लोग अपने होटल और अपने देश के लिए वहां से निकल गए

भारत के लोगों को जापान के इन लोगों ने सीखने की जरुरत है, हमारे यहाँ तो इतना घृणित हाल है की लोग दीवारों पर पान थूकते है, और उसे घृणित स्थान बना देते है, हमारे हाईवे पर तो गाडी चलाने वाले लोग कचरा फेंकते है, थूकते है, केला खाकर गाडी से फेंकते है, हर जगह कचरा फैलाते है

और अगर इन लोगों से साफ़ सफाई के लिए कह दिया जाये तो इन्हें उल्टा बुरा लगता है, जापान ऐसे ही आगे नहीं है, ये छोटी छोटी चीजें नहीं है, ये काफी अहम् है, और ये जापानियों के बड़े ह्रदय को भी दिखाती है, जिसे हम भारतीयों को सीखने की जरुरत है

ये छोटी छोटी चीजें सीखकर ही हम अच्छे बन सकते है, और हम अच्छे होंगे तभी तो हमारा देश अच्छा होगा, ये बात भी हमे समझनी होंगी