Press "Enter" to skip to content

ये ही है गंगा जमुनी तहजीब : जिसका मतलब है सिर्फ और सिर्फ दोगलापन

गंगा जमुनी तहजीब
गंगा जमुनी तहजीब

गंगा जमुनी तहजीब क्या होती है ये आज हम आपको उदाहरण देकर समझा रहे है, वैसे हम जानते है की हम कितने भी लेख लिख लें, पर ये जो सेकुलरिज्म है, वो इतना घातक कैंसर है, की इसका इलाज जल्दी संभव नहीं है और आसान तो बिलकुल नहीं

हमेशा गंगा जमुनी तहजीब की बात होती है, सेकुलरिज्म की बात होती है, आपको हम 2 उदाहरण देकर समझा रहे है, पहला उदाहरण है कठुवा का फर्जी रेप काण्ड

पहले तो बता दें की कठुवा में कोई रेप हुआ ही नहीं, और असली हत्यारे अब भी नहीं पकडे गए है, पर इस मामले पर हिन्दुओ और मंदिर को बुरी तरह बदनाम किया गया, और बदनाम करने में सबसे अहम् योगदान दिया बॉलीवुड के फिल्म्बाजो ने

करीना खान भी इन फिल्म्बाजो में शामिल थी, करीना खान ने तख्ती पकड़कर अपनी तस्वीर खिंचवाई थी, और खुद के हिन्दू होने पर बहुत ही ज्यादा शर्मिंदा थी, मंदिर को भी बदनाम कर रही थी

अभी हाल ही में मंदसौर में 7 साल की दिव्या का मोहम्मद इरफ़ान और मोहम्मद आसिफ ने गैंगरेप किया, अब इस मामले पर करीना खान की जबान तो कट ही गयी है, पर उनके शौहर सैफ अली खान, उनको भी मंदसौर गैंगरेप काण्ड पर मुस्लिम होने पर कोई शर्म नहीं है

ये ही है गंगा जमुनी तहजीब, आपको एक पुरानी बात भी याद दिलवाते है, एक फिल्म्बाज डायरेक्टर को कुछ लोगों ने 1 थप्पड़ मार दिया था, तब एक फिल्म्बाज ने अपने नाम में से “सिंह और राजपूत” शब्द हटा दिया था,

जबकि इस दुनिया में हजारों खान पकडे गए है आतंकी हमलों में, ढेर किये गया है खान नाम के आतंकी, पर आजतक किसी खान फिल्म्बाज ने अपने नाम से खान शब्द नहीं हटाया, ये भी गंगा जमुनी तहजीब  है, जिसका मतलब है सिर्फ और सिर्फ दोगलापन, और ये सेकुलरिज्म ही भारत की बर्बादी का सबसे बड़ा कारण है

More from कडवी बातMore posts in कडवी बात »
Mission News Theme by Compete Themes.