Press "Enter" to skip to content

2019 में कट सकता है सुषमा का टिकेट, इसी कारण मोदी से बौखलाकर निकाल रही गुस्सा

कट सकता है सुषमा का टिकेट
कट सकता है सुषमा का टिकेट

प्रधानमंत्री मोदी ने 2014 में कई वरिष्ट नेताओं को इसलिए सांसद नहीं बनाया क्यूंकि उनका एक फार्मूला था 70 साल वाला, सुषमा जैसे नेता मंत्री बनाये गए, पर अब कट सकता है सुषमा का टिकेट

कट सकता है सुषमा का टिकेट : सुषमा स्वराज आज कल बीजेपी के समर्थको और खासकर मोदी सर्मथको पर ही गुस्सा निकाल रही है. उन्हें कह कह कर ट्विटर पर ब्लाक कर रही है, और मंत्रालय को कानून और नियम से नहीं बल्कि अपनी ईगो और मनमर्जी से चला रही है

सुषमा स्वराज अगले चुनाव से पहले ज्यादा से ज्यादा राष्ट्रवादियों को नाराज करना चाहती है, ताकि ये सब मोदी सरकार से नाराज हो जाये, या तो NOTA का बटन दबाएँ या असक्रिय हो जाये

सुषमा स्वराज बीजेपी के कई ऐसे नेताओं को तोड़कर अलग गुट भी बना सकती है जो मोदी से नाराज है, क्यूंकि मोदी न खुद खाते है और न दुसरे को खाने देते है, सुषमा ऐसे बीजेपी के नेताओं को तोड़कर अकाली दल और शिवसेना के साथ मिलकर एक गठबंधन बना सकती है

और मोदी को तानाशाह बताकर ये गठबंधन विपक्ष और कांग्रेस के साथ वाले महागठबंधन में मिल सकता है, सुषमा को अहसास है की अगले चुनाव में बीजेपी उन्हें मार्गदर्शक मंडली में न भेज दे, और उनका टिकेट न कट जाये इसी कारण वो चुन चुन कर मोदी समर्थको पर गुस्सा निकालकर राष्ट्रवादियों को मोदी के खिलाफ भड़काने में लगी है

अभी हाल ही के दिनों में सुषमा स्वराज ने अपना गुस्सा राष्ट्रवादियों पर निकाला है, जबकि उनके समर्थन में बरखा दत्त, राजदीप सरदेसाई, राना आयुब, अभिसार शर्मा, रविश कुमार, कांग्रेस पार्टी, केजरीवाल, ममाता बनर्जी जैसे लोग आये है

More from सेक्युलर नेताMore posts in सेक्युलर नेता »