Press "Enter" to skip to content

जब हिन्दू-सिख आपस में लड़ते है तो जिहादी होते है खुश, एक रहें हिन्दू व सिख : डॉ स्वामी

हिन्दू व सिख
हिन्दू व सिख

कभी अफगानिस्तान में हिन्दू व सिख ही 100% थे, पर आज मात्र 1000 हिन्दू हिन्दू व सिख अफगानिस्तान में बचे है, और उनमे से भी 20 को कल इस्लामिक आतंकियों ने अफगानिस्तान के जलालाबाद में मौत के घाट उतार दिया

हिन्दू व सिख अफगानिस्तान में मात्र 1000 की संख्या में ही बचे है, कल इस्लामिक आतंकियों ने हमला किया और 20 को मार दिया, इनमे से अधिकतर सिख ही है और कुछ हिन्दू है

धर्म के आधार पर सीखो और हिन्दुओ को पाकिस्तान समर्थित इस्लामिक आतंकियों ने मौत के घाट उतारा है, आज इस मुद्दे पर डॉ सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा की जब हिन्दू और सिख आपस में लड़ते है तो इस्लामिक जिहादी बहुत प्रसन्न होते है

हिन्दुओ और सीखो को समझना होगा की अगर वो एक रहे तो ही सुरक्षित रहेंगे, हमारे पूर्वज भी एक थे, और जब सिख धर्म बना तो भी सिख और हिन्दू एकजुट थे, और इसी कारण सिखों और हिन्दुओ ने कई हारी हुई जगहों पर वापस अधिकार भी किया क्यूंकि हम एक थे

पर आज इस्लामिक जिहादियों के बहकावे में आकर बहुत से सिख हिन्दुओ के प्रति नफरत का भाव रखते है, उनको समझना होगा की जिहादी उनके सगे नहीं है, और अफगानिस्तान में सिखों को पाकिस्तान के ही जिहादी निशाना बना रहे है

डॉ स्वामी ने कहा की हिन्दू और सिख एक रहे तो ही सुरक्षित रहेंगे अन्यथा दोनों आपस में लड़ते है तो सबसे ज्यादा प्रसन्नता जिहादियों को ही होती है, अगर हिन्दू व सिख एकजुट रहे तो ही वो जिहादियों को हरा सकते है