Press "Enter" to skip to content

धरने प्रदर्शन के बाद भी हिन्दू शरणार्थियों को बिजली नहीं दिया केजरीवाल ने, पानी भी कटवाई

हिन्दू शरणार्थियों को बिजली नहीं देंगे : केजरीवाल
हिन्दू शरणार्थियों को बिजली नहीं देंगे : केजरीवाल

दिल्ली के आदर्श नगर में पाकिस्तान से आये 600 हिन्दू शरणार्थियों की बिजली पानी का मुद्दा अब किसी से छुपा नहीं है, जून 2018 की शुरुवात में ही केजरीवाल ने उनका बिजली और पानी का कनेक्शन कटवा दिया

1 महीने हो गए पर हिन्दू शरणार्थियों को बिजली नहीं दी गयी, सबसे पहले दैनिक भारत पर ही ये मामला उठाया गया था, फिर कपिल मिश्र हिन्दुओ से मिलने भी गए, उसके बाद से ये खबर पुरे देश की सोशल मीडिया में आई, और अब तो कई चैनलों ने भी इस मामले को उठाया

सुदर्शन न्यूज़ के संपादक सुरेश चाव्हानके तो कल ही से आदर्श नगर में इन हिन्दुओ के साथ धरने पर है, ताकि इनको बिजली का कनेक्शन जो केजरीवाल ने कटवाया है वो वापस मिल सके, वो रात भर भी और आज भी इसी स्थान पर धरने पर है

पुरे देश की सोशल मीडिया में, फिर मीडिया में, और अब धरने प्रदर्शन के बाद भी केजरीवाल की सरकार हिन्दू शरणार्थियों को बिजली का कनेक्शन नहीं दे रही है, यहाँ तक की पानी का कनेक्शन भी कटवाया, ये हिन्दू हैंडपंप का पानी इस्तेमाल कर रहे है, वो दिल्ली में काफी प्रदूषित है

पुरे देश में खबर आने के बाद भी, और धरने प्रदर्शन के बाद भी केजरीवाल इन हिन्दुओ को बिजली का कनेक्शन नहीं दे रहे है, केजरीवाल ने अधिकारिक तौर पर तो नहीं पर अपनी हरकत से कह दिया है की वो हिन्दुओ को बिजली का कनेक्शन नहीं देंगे, यहाँ तक की पानी का कनेक्शन उल्टा कटवा दिया

ये जो हिन्दू शरणार्थी है ये अवैध रूप से भारत में नहीं आये, बल्कि शरणार्थी की तरह कागज़ के साथ आये है, पर केजरीवाल ने इनका बिजली कनेक्शन कटवा दिया, जबकि इसी आदर्शं नगर में हजारों की में अवैध बांग्लादेशियों के झुग्गियों में AC, TV, फ्रिज सबकुछ लगा है, और उसका बिजली बिल भी वो नहीं देते, पर उनकी बिजली 24 घंटे ओन है

हिन्दुओ पर भीषण अत्याचार तो देश की राजधानी में ही हो रहा है, जो सेक्युलर मानवता की बात करते है, वो असल में हिन्दुओ के प्रति किस प्रकार की नफरत रखते है, हिन्दुओ से कितनी घृणा करते है, उनके मन में हिन्दुओ के लिए कोई मानवता नहीं है, ये साफ़ हो चूका है

More from सेक्युलर नेताMore posts in सेक्युलर नेता »
Mission News Theme by Compete Themes.