Press "Enter" to skip to content

संविधान के सामने शरिया फ़रिया की कोई औकात नहीं : अमन चोपड़ा, पत्रकार

अमन चोपड़ा
अमन चोपड़ा

अमन चोपड़ा : लखनऊ जिसका असली नाम है लक्ष्मणपूरी, यहाँ नगरनिगम ने एक प्रस्ताव पेश किया जिसके तहत एक सरकारी पार्क में लक्ष्मण जी की मूर्ति लगाई जाएगी

अमन चोपड़ा : लक्ष्मण जी  मूर्ति लक्ष्मण का टीला नमक स्थान पर एक सरकारी पार्क में लगनी है, ये सरकारी पार्क नगरनिगम की सम्पति है, और अपनी संपत्ति पर नगरनिगम मूर्ति लगाना चाहता है

अब कट्टरपंथी मुसलमानों को इस मूर्ति से समस्या है, वहां स्थानीय टीले वाली मस्जिद के इमाम ने कहा है की हम लक्ष्मण की मूर्ति पार्क में नहीं लगने देंगे, हम वहां नमाज़ पढ़ते है और ये पार्क हमारा है, संविधान नहीं ये हमारे शरिया का मामला है

इसी मुद्दे पर आज एक विशेष कार्यक्रम में पत्रकार अमन चोपड़ा ने कट्टरपंथियों की जमकर आलोचना की और कड़े शब्दों में उनपर कटाक्ष किया

अमन चोपड़ा ने कहा की ऐसे तो कहा जाता है की गंगा जमुनी तहजीब चलनी चाहिए, मस्जिद के साथ फिर मूर्ति क्यों नहीं लग सकती, मस्जिद के अन्दर तो कोई मूर्ति नहीं लगा रहा है, सरकारी पार्क है, नगरनिगम की संपत्ति है वो अपनी संपत्ति पर कुछ भी लगाये इस से क्या आपत्ति है

अमन चोपड़ा ने कहा की इमाम संविधान से ऊपर शरिया को बता रहे है, उनको मैं बता देता हूँ की शरिया नहीं इस देश में संविधान बड़ा है और ये देश शरिया नहीं बल्कि संविधान से ही चलेगा

साथ ही अमन ने ये भी कहा की मैं तो कहता हूँ की संविधान के सामने शरिया कुछ भी नहीं है शरिया फ़रिया की कोई औकात नहीं है, और ये बात कट्टरपंथियों को समझ लेनी चाहिए